Saraswati Puja 2020

Hindi Translation :-

Saraswati Puja :-
हिंदू मान्यता के अनुसार देवी सरस्वती की पूजा सर्वप्रथम भगवान श्री कृष्ण ने की थी.
इस वर्ष वसंत पंचमी या सरस्वती पूजा 29 फरवरी को मनाई जाएगी.
शुभ मुहूर्त सुबह – 10 बजकर 45 मिनट से लेकर 12 बजकर 35 मिनट तक हे.
सरस्वती ज्ञान और विद्या की देवी हे. सरस्वती वेदों की जननी हे.
“सरस्वती वंदना” अक्सर वैदिक पाठों को शुरू और समाप्त होती हे.
स्कंद पुराण के अनुसार, सरस्वती भगवान शिव और दुर्गा की बेटी हे,
जो धन की देवी लक्ष्मी की बहन हैं और उनके दो भाई हे, गणेश और कार्तिकेय हे.
हंस पक्षी उसका वाहन हे. हंस शुद्धता का भी प्रतिनिधित्व करता हे.

Saraswati, saraswati puja

सरस्वती पूजा ज्ञान के साधकों के बीच सबसे लोकप्रिय हे. कई परिवार अपने पांच साल के बच्चों को देवी के पास लाते हे,
ताकि बच्चे की शिक्षा शुरू होने से पहले उसका आशीर्वाद लिया जा सके. वसंत के मौसम मे सरस्वती पूजा होती हे,
यानि के साल के पाहिले या दूसरे महीने के बिच में. सरस्वती पूजा या वसंत पंचमी केवल भारत में ही नहीं, बल्कि नेपाल और इंडोनेशिया (बाली) में भी मनाई जाती हे.

पूजा आवश्यकताओं की मूल सूची :-
सरस्वती का चित्र,
पूजा के बर्तन,
सफेद सरसों,
अंगूठी और एक चांदी का सिक्का,
धुप बत्ती,
आईना,
तिरकाठी,
मिठाई,
झरने के पानी की बोतल,
सिंदूर पाउडर, आदि सूची.

English Translation :-

According to Hindu belief, Goddess Saraswati was first worshiped by Lord Shri Krishna.
This year Vasant Panchami or Saraswati Puja will be celebrated on 29 February.
Good auspicious beginning morning – 10:45 AM To 12:35 PM.
Saraswati is the goddess of knowledge and learning. She is the mother of Vedas.
Saraswati Vandana often begins and ends with Vedic lessons.
According to Skanda Purana, Saraswati is the daughter of Lord Shiva and Durga.
She is the sister of Lakshmi, the goddess of wealth.and has two brothers, Ganesh and Karthikeya.
The swan bird is her vehicle. Hans also represents purity.

Saraswati puja is very popular among students, the seekers of knowledge. Numerous families bring their five year old children to the goddess to seek her blessing before the child commences his or her education. This Puja is done in the spring season. Saraswati Puja comes during the month of January Or February. Saraswati Puja or Vasant Panchami is celebrated not only in India, but also in Nepal and Indonesia (Bali).
Basic list of Puja requirements :-
Photo of Saraswati,
Puja utensils,
White mustard,
Ring and Silver coin,
Dhoop Batti and Stand,
Mirror,
Tirkathi,
Sweets,
Bottle of spring water,
Vermilion powder. etc.

If you liked this Wishes, then please share to social networking site.
You can also find us on Twitter, Facebook and Instagram.

DMCA.com Protection Status